image

हमारे सहयोगी व मित्र श्री गोपाल सिंह सोलंकी के रात दिन के प्रयासों को श्री महावीर जैन ने अपने लक्ष्य प्रकाशन में ढाला है।

प्रथम श्रेणी स्कूल लेक्चरर के लिए अति उत्तम ।

ग्रैब इट।।।।।