Archive | November, 2012

RTET level-I and level-II answer keys

27 Nov

अजमेर.राजस्थान माध्यमिक शिक्षा बोर्ड द्वारा रविवार को जारी आरटेट 2012 की उत्तर कुंजी में लेवल वन व लेवल टू की विभिन्न सीरीज की प्रश्न पुस्तिकाओं में कुछ प्रश्नों के आगे बोनस लिखा गया है।
ये प्रश्न तकनीकी दृष्टि से गलत होने को देखते हुए बोर्ड सभी अभ्यर्थियों को संबंधित प्रश्न में बोनस अंक देगा। कुछ प्रश्नों के उत्तर विकल्प एक से अधिक सही माने गए हैं। बोर्ड ने लेवल वन और लेवल टू की सभी चार सीरीज की बुकलेट्स की अलग-अलग उत्तर कुंजी जारी की हैं।
लेवल वन में इन प्रश्नों में बोनस अंक
लेवल वन की प्रश्न बुकलेट सीरिज डब्ल्यू में हिंदी विषय का प्रश्न संख्या 71 व 85, संस्कृत में 79, सीरीज एक्स में हिंदी विषयमें प्रश्न संख्या 70 व 81, संस्कृत में 70, सीरीज वाय में हिंदी विषय के प्रश्न संख्या 79 व 88 और संस्कृत में 89 और सीरीजजेड में हिंदी विषय में प्रश्न संख्या 77 7व 81, संस्कृत विषय में प्रश्न संख्या 65 को तकनीकी दृष्टि से गलत माना है। इन प्रश्नों में अभ्यर्थियों को बोनस अंक दिएगए हैं।
लेवल टू परीक्षा: इन प्रश्नों में मिलेंगे बोनस अंक
बोर्ड की ओर से लेवल टू की बुकलेट सीरीज डब्ल्यू में हिंदी में प्रश्न संख्या 32 व 54, संस्कृत विषय में प्रश्न संख्या 79 उर्दू में 56 व 74, सोशल स्टडी में प्रश्न संख्या 137, 139 और 145 में बोनस अंक दिए गए हैं। सीरिज एक्स में हिंदी में 49 व 59, उर्दू 36 व 83,संस्कृत 65, सोशल स्टडी 95, 127 व 129 में बोनस अंक दिए गए हैं। सीरीज वाय में हिंदी का प्रश्न संख्या 39 व 56, संस्कृत में 89, उर्दू में 51 व 68 और सोशल स्टडी में 100, 102 व 104 प्रश्न संख्या में बोनस दिए गए हैं। सीरीज जेड में हिंदी का प्रश्न संख्या 34 व 39, संस्कृत 70, उर्दू 78 और सोशल स्टडी प्रश्न संख्या 112, 114 व 150 में बोनस अंक दिए गए हैं।
बोनस अंक मिलेंगे
‘आरटेट 2012 की उत्तर कुंजी जारी कर दी गई है। इसमें जिन प्रश्नों के आगे बोनस लिखा है उनमें प्रत्येक अभ्यर्थी को बोनस अंक दिए गए हैं। कुछ प्रश्नों के एक से अधिक विकल्प को सही माना गया है।’
मिरजूराम शर्मा
आरटेट समन्वयक व सचिव, राजस्थान माध्यमिक शिक्षा बोर्ड
इनके एक से अधिक विकल्प सही माने

फरवरी तक हो पाएगी आरएएस मुख्य परीक्षा

27 Nov

अजमेर। राजस्थान लोक सेवा आयोग ने राजस्थान राज्य एवं अधीनस्थ सेवा भर्ती परीक्षा 2012मुख्य परीक्षा की तैयारी शुरू कर दी है। परीक्षा जनवरी के अंत या फरवरी तक हो सकती है। आयोग शीघ्र तिथियां तय करेगा।
प्रारम्भिक परीक्षा का परिणाम जारी करने के बाद आयोग ने अब मुख्य परीक्षा की तैयारी करना शुरू कर दिया है। आयोग को 31 विषयों में70 से ज्यादा परीक्षाओं का कार्यक्रम तय करना है। आयोग की सोच है कि अभ्यर्थियों को परीक्षा की तैयारी के लिए कम से कम 45 दिन का समय दिया जाए। ऎसे में परीक्षा जनवरी के अंत या फरवरी में हो सकती है।
आयोग के पिछले दो अध्यक्षों के कार्यकाल मेंमुख्य परीक्षा की तिथियां प्रारंभिक परीक्षा का परिणाम आने की तिथि से 45 दिन के भीतर तय कर दी गई थीं। माना जा रहा था कि दोनों अध्यक्षों का कार्यकाल कम होने के कारण यह जल्दबाजी हुई।

एचएम भर्ती का मामला सीएम तक पहुंचा

27 Nov

अजमेर. राजस्थान लोक सेवा आयोग द्वारा घोषित प्रधानाध्यापक (माध्यमिक शिक्षा) भर्ती परीक्षा का मामला सोमवार को मुख्यमंत्री अशोक गहलोत तक पहुंच गया। परिणाम से असंतुष्ट अभ्यर्थियों ने सीएम गहलोत को ज्ञापन देकर भर्ती परीक्षा रद्द कर पुन: आयोजित कराने का आग्रह किया।
प्रधानाध्यापक(माध्यमिक शिक्षा) भर्ती परीक्षा 2012 संघर्ष समिति का एक प्रतिनिधिमंडल जयपुर में सीएम अशोक गहलोत से मिला। प्रतिनिधिमंडल में संयोजक रियाजुद्दीन समेत 25 अभ्यर्थी शामिल थे। असंतुष्ट अभ्यर्थियों का कहना था कि इस भर्ती परीक्षा में भारी संख्या में प्रश्न त्रुटिपूर्ण व विवादित थे। आयोग ने भी 18 नवंबर को इस परीक्षा के कुल 300 प्रश्नों में से 22 प्रश्नों को हटा कर परिणाम जारीकिया। 22 प्रश्न डिलीट करने के बाद भी लगभग 40 प्रश्न अभी भी विवादित हैं।
अभ्यर्थियों का यह भी आरोप था कि आयोग ने उत्तर कुंजी दो बार बदली है। इन अभ्यर्थियों का यह भी तर्क था कि आयोग ने आरएएस प्री का भौतिक विज्ञान विषय का पेपर त्रुटिपूर्ण होने पर पुन: परीक्षा ली। ग्रेड सेकंड टीचर्स भर्ती परीक्षा उर्दू में भी विवादित प्रश्न होने के कारण परीक्षा रद्द कर पुन: आयोजित की थी।
इसे देखते हुए इस परीक्षा को भीरद्द कर पुन: आयोजित की जाए। अभ्यर्थियों का दावा है कि सीएमने इस संबंध में जांच के बारे में आश्वासन दिया है।
आयोग में भी आपत्ति दर्ज कराई
अनेक अभ्यर्थी आयोग भी पहुंचे। इन अभ्यर्थियों ने भी आयोग प्रशासन को ज्ञापन सौंप कर इस परीक्षा को रद्द कर पुन: आयोजितकरने की मांग की है।
विस्तृत आवेदन पत्र जमा कराने पहुंचे अभ्यर्थी
आयोग द्वारा घोषित परिणाम में अस्थाई रूप से सफल रहे अभ्यर्थीआयोग द्वारा मांगे विस्तृत आवेदन पत्र जमा कराने पहुंचे। आयोग सूत्रों के मुताबिक 4 दिसंबर तक अभ्यर्थी ये आवेदन पत्र आयोग में जमा कर सकेंगे।
गवर्नर व सीएस तक भी पहुंचाए ज्ञापन
रियाजुद्दीन के मुताबिक सीएम से मिलने के बाद प्रतिनिधिमंडल राज्यपाल मारग्रेट अल्वा से मिलने पहुंचा। लेकिन गवर्नर के जयपुर से बाहर होने के कारण उनके पीएस को ज्ञापन सौंपा गया।इधर मुख्य सचिव सी के मैथ्यू केसीएस को भी ज्ञापन दिया गया।

आरएएस (प्रा.) परीक्षा का परिणामघोषित

23 Nov

आरएएस (प्रा.) परीक्षा का परिणामघोषित
अजमेर। राजस्थान लोक सेवा आयोगमें फुल कमीशन ने राजस्थान राज्य एवं अधीनस्थ सेवा भर्ती-2012 की प्रारंभिक परीक्षा का परिणामशुक्रवार रात सवा दस बजे घोषित कर दिया। आयोग ने फुल कमीशन की बैठक में परिणाम को हरीझंडी दी। आयोग ने 1 हजार 211 पदों के लिए 23 हजार 200 अभ्यर्थियों का परिणाम जारी किया है। इसी के साथ पिछले पांच महीने से इंतजार कर रहे अभ्यर्थियों का इंतजार खत्म हुआ।
सचिव डॉ. के. के.पाठक ने बताया कि सुबह आयोग नेफुल कमीशन की बैठक में परिणाम को हरी झंडी दी। परिणाम स्केलिंग के आधार पर ही जारी हुआ। एक्सपर्ट कमेटी द्वारा दी गई उत्तर कुंजी को भी मंजूरी दी गई। रात को परिणाम जारी कर दिया गया।
अगले साल नया पैटर्न
राज्य सरकार एवं राजस्थान लोक सेवा आयोग ने वर्ष 2013 से आरएएस परीक्षा के नए पैटर्न कोमंजूरी दी है। इसमें प्रारंभिक परीक्षा में एक तथा मुख्य परीक्षा में सिर्फ चार ही प्रश्A-पत्र होंगे। सभी विषयों के समाहित होने के कारण स्केलिंग की जरूरत नहीं पड़ेगी। आयोग फिलहाल इसका पाठ्यक्रम तैयार कर रहा है।
यह होती है स्केलिंग
लोक सेवा आयोग ने 1990 के दशक में स्केलिंग पद्धति अपनाई थी। स्केलिंग पद्धति अपनाने के पीछे आयोग का उद्येश्य विषयों के अंक संबंधी विसंगतियों को समाप्त करना है। दरअसल गणित, विज्ञान तथा अन्य तकनीकी विषयों में विद्यार्थी पूरे में से पूरे नम्बर ले आते हैं। जबकि इतिहास, दर्शन शास्त्र व राजनीति विज्ञान जैसे आटर्स के विषयों में नम्बर कम आते हैं। ऎसे में विषयों के अंक अंतर को कम करने तथा उन्हें समान रूप से वितरित करने के लिए आयोग ने स्केलिंग पद्घतिअपनाई। गणित के विशिष्ट फार्मूले से नम्बरों के अंतर को पाटा जाता है। स्केलिंग लागू होने के बाद से विवादित रही। तकनीकी विषयों के अभ्यर्थी इस बात से पीडित रहे कि उनके अंक कम हो गए जबकि कला वालों के बढ़ गए।
इनका कहना है
शुक्रवार को सुबह फुल कमीशन की हरी झंडी के बाद परिणाम जारी किया गया है। आयोग अब मुख्य परीक्षा की तैयारी में जुटेगा।
-डॉ. के.के.पाठक, सचिव, आरपीएससी
कट ऑफ सामान्य श्रेणी
सामान्य: 218.89
महिला: 185.22
विधवा: 141.80
परित्याक्ता: 162.31
अनुसूचित जाति श्रेणी
सामान्य: 210.79
महिला: 151.73
विधवा: 123.68
परित्याक्ता: 141.94
अनुसूचित जनजाति श्रेणी
सामान्य: 218.91
महिला: 168.86
विधवा: 138.16
परित्याक्ता: 191.59
अन्य पिछड़ा वर्ग
सामान्य: 218.91
महिला: 185.22
विधवा: 142.16
परित्याक्ता: 164.76
विशेष पिछड़ा वर्ग
सामान्य: 207.74
महिला: 171.36
टीएसपी (एस.सी)
सामान्य: 184.02
टीएसपी (एस.टी)
सामान्य: 162.10
महिला: 140.59

ras pre result 2012

23 Nov

RAS pre cut off and result 2012

RAJASTHAN PUBLIC SERVICE COMMISSION, AJMER
DATE: 23-11-2012 THE CANDIDATES BEARING THE FOLLOWING ROLL NO. FOR THE RAJASTHAN STATE & SUBORDINATE SERVICES COMBINED COMPETITIVE (PRELIMINARY) EXAMINATION, 2012 HELD ON 14-06-2012 ARE DECLARED PROVISIONALITY QUALIFIED FOR ADMISSION TOTHE MAIN EXAMINATION IF ANY CANDIDATE IS FOUND THAT HE/SHE DOES NOT FULFILL THE CONDITIONS OF ELIGIBILITY PRESCRIBED AS PERADVERTISEMENT/RULES, THE COMMISSION SHALL REJECT HIS/HER CANDIDATURE AT ANY STAGE.
CUT OFF MARKS CUT OFF MARKS GEN 218.89 FEM WD DV GEN FEM WD DV GEN FEM GEN FEM WD DV GEN FEM GEN FEM WD DV GEN FEM BL/LVLD HI NG DC EX NOTE ¨C 185.22 141.80 162.31 210.79 151.73 123.68 141.94 184.02 218.91 168.86 138.16 191.59 162.10 140.59 218.91 185.22 142.16 164.76 207.74 171.36 140.68 Already pass in respective category 140.91 Already pass in respective category 140.27 143.09
CATEGORY GEN
SC
TSP SC ST
TSP ST OBC
SBC
1.
Result withheld Roll No. 710552, 377614, 362698, 368593, 711626, 160408, 281967 &474849 as per Commission¡¯s order. Result ofEx-Serviceman is subject to final decision of the Hon’ble Supreme Court in SLP (Civil) appealNo. 18272-76/2008. The result will also subject to the decision of Writ Petition No. 6744/08 and 11200/2010.
2.
Dy. Secretary

ras pre result 2012

23 Nov

Friends aakhirkar ras ka result ghoshit ho hi gya

abhi abhi samachar mile h ki ras ka result ghoshit ho gya h or general cut off 217 keep aaspas h

उत्तर कुंजी में कई जवाब गलत

22 Nov

अजमेर। राजस्थान लोक सेवा आयोग की ओर से जारीजनसम्पर्क अधिकारी तथा सहायक जनसम्पर्क अधिकारी भर्ती परीक्षा की उत्तर कुंजी में कई खामियां हैं। विषय विशेषज्ञों ने आयोग केविकल्पों को गलत करार दिया है। आयोग ने उत्तर कुंजी पर सात दिन में आपत्तियां मांगीहैं। अभ्यर्थियों को जिन सवालों के जवाब पर एतराज है, उन पर तथ्यों एवं सबूतों के साथ आपत्तियां दर्ज करानी होंगी।
जानकारों के अनुसार उत्तर कुंजी में छह-छह सवालों के जवाबों को गलत ठहराया जा रहा है।
पीआरओ की उत्तर कुंजी में गलतियां
-संविधान के अनुच्छेद 19 में कौनसा मौलिक अधिकार जोड़ा गया है?
विकल्प – सहकारी संस्थाएं बनाने का अधिकार
सही जवाब – सूचना का अधिकार -सूखा संभावित क्षेत्र कार्यक्रम में कौनसा जिला नहीं आता?
विकल्प- जयपुर
सही जवाब- बांसवाड़ा
-स्त्री अशिष्ट रूपण (प्रतिषेध) कब लागू हुआ?
– हिन्दी व अंग्रेजी अनुवाद में अंतर है
-जनसम्पर्क सेवा में कनिष्ष्ठतम अधिकारी है?
विकल्प :- जन सम्पर्क अधिकारी
सही जवाब :- सहायक जनसम्पर्क अधिकारी
-आरएनआई से आशय है
विकल्प :- रजिस्ट्रार ऑफ न्यूजपेपर्स फॉर इंडिया
सही जवाब :- रजिस्ट्रार न्यूजपेपर्स ऑफ इंडिया
———————————————
एपीआरओ की उत्तर कुंजी में गलतियां
– बाइलाइन स्टोरी से संबंधित सवाल दो बार पूछा गया है
-लक्षित जन को निगमीय उद्येश्यों को प्राप्तकरने के लिए राजी करने के लिए विवेकपूर्ण मीडिया मिक्स……?
विकल्प:- जनसम्पर्क अभियान
सही जवाब :- ब्रांड पोजीशनिंग
-संविधान सभा की पहली बैठक कब हुई?
विकल्प:- 11 दिसम्बर 1946
सही जवाब:- 9 दिसम्बर 1946
-किस खेल(क्रीड़ा) में मिलखा सिंह ने अन्तरराष्ट्रीय ख्याति प्राप्त की?
विकल्प:- कुश्ती
सही जवाब- दौड़
-ओलंपिक खेलों में रजत पदक विजेता
आयोग ने विजय कुमार को सही माना है जबकि इसी प्रश्न में दूसरा सही विकल्प सुशील कुमार भीउपलब्ध है।-स्लैंडर क्या है?
– हिन्दी व अंग्रेजी के विकल्पों के क्रम मेंअंतर है।
-समाचार-पत्र में रिपोर्टिग की जिम्मेदारी कौन तय करता है?
विषय विशेषज्ञ चारों ही विकल्पों को गलत बतारहे हैं।

तीन विषयों के 207 व्याख्याताओं को नियुक्तियां

22 Nov

बीकानेर. माध्यमिक शिक्षा विभाग में तीन विषयों के 207 व्याख्याताओं को नियुक्तियांदी गई हैं। शिक्षा निदेशक डॉ. वीना प्रधान ने बुधवार की शाम को नियुक्ति आदेश जारी कर दिए।
शिक्षा निदेशक के अनुसार कॉमर्स के 197, भौतिक विज्ञान एक, रसायन विज्ञान दो और अंग्रेजी के सात व्याख्याताओं को नियुक्तियां दी गई हैं। इनका चयन आरपीएससी के तहत हुआ था। नव नियुक्त व्याख्याताओं को 14 दिसंबर तक नव पदस्थापित स्थान पर कार्यग्रहण करना होगा।
बीकानेर को कॉमर्स के 17 व्याख्याता मिले हैं। इन सभी को ग्रामीण क्षेत्र की माध्यमिकव उच्च माध्यमिक स्कूलों में रिक्त पदों पर लगाया गया है।
डीईओ व उच्च पदों की डीपीसी आज, 11 निजी सहायक बने : शिक्षा विभाग में जिला शिक्षा अधिकारी से उप निदेशक, संयुक्त निदेशक और अतिरिक्त निदेशक के पदों की डीपीसी गुरुवार को जयपुर में होगी। राजस्थान लोक सेवा आयोग के सदस्य की अध्यक्षता में होने वाली विभागीय पदोन्नति समिति की बैठक में माध्यमिक शिक्षा निदेशक सहित कई अधिकारी भाग लेंगे।
इसी प्रकार माध्यमिक शिक्षा निदेशक डॉ. वीणा प्रधान ने बुधवार को निजी सहायक के पदों की डीपीसी की है। शिक्षा विभाग के राज्यभर में 11 स्टेनों को निजी सहायक के पदों पर पदोन्नति दी गई है।इसी प्रकार कार्यालय सहायक की डीपीसी 30 नवंबर को रखी गई है।

ग्रेड थर्ड शिक्षक भर्ती:RTET में 55% से कम अंक वालों को नहीं मिली राहत

21 Nov

जयपुर.हाईकोर्ट ने आरटेट में 55 प्रतिशत से कम अंक धारकों कोतृतीय श्रेणी शिक्षक के अयोग्य माने जाने के मामले में राज्य सरकार को राहत नहीं देते हुए एकलपीठ के आदेश पर अंतरिम रोक लगाने से इनकार कर दिया। साथ हीराज्य सरकार के उस प्रार्थना पत्र को खारिज कर दिया जिसमें एकलपीठ के 6 अक्टूबर, 2012 के आदेश पर रोक लगाने की प्रार्थनाकी गई थी। हालांकि अदालत ने राज्य सरकार की अपील पर पक्षकारों को नोटिस जारी कर जवाब मांगा है। मुख्य न्यायाधीश अरुण मिश्रा व न्यायाधीश बेला एम. त्रिवेदी कीखंडपीठ ने यह अंतरिम आदेश मंगलवार को दिया। हाईकोर्ट की एकलपीठ ने 6 अक्टूबर के आदेश सेआरटेट में 55 प्रतिशत से कम अंकधारकों को तृतीय श्रेणी शिक्षक के लिए अयोग्य मानते हुए राज्य सरकार को निर्देश दिया था कि वह55 प्रतिशत से कम अंक वालों को नियुक्ति नहीं दे और नए सिरे सेचयन सूची बनाकर जारी करे। एकलपीठ के आदेश को खंडपीठ में चुनौती देते हुए सरकार ने कहा कि सरकार को यह अधिकार है कि वह अभ्यर्थियों को न्यूनतम प्राप्तांकों में छूट प्रदान कर सकती है, लिहाजा 55 प्रतिशत से कम अंक धारकों को नियुक्ति दी जाए, लेकिन खंडपीठ ने सरकार की दलीलों को नकारते हुए एकलपीठके आदेश पर रोक लगाने से इनकार कर दिया।

राजस्थान में बन सकते हैं चारनए जिले

21 Nov

जयपुर.राजस्थान सरकार चुनाव से पहले प्रदेश में कम से कम चार नए जिले बनाने को लेकर अंतिम तैयारियां कर चुकी है। नए जिले बनाने के लिए राज्य सरकार का फोकस जयपुर, नागौर और अजमेर पर है। अगर कोई बड़ा राजनीतिक दबावनहीं आता है तो जयपुर में कोटपूतली, सीकर में नीम का थाना,अजमेर में ब्यावर और नागौर में डीडवाना का जिला बनना लगभग तय है। सरकार के एक आला मंत्री का कहना है कि नए जिलोंे का एक मोटा खाका तैयार है। समिति की रिपोर्ट आने पर घोषणा होगी। काबिल-ए-गौर है कि राजस्थान की जटिल भौगोलिक स्थिति और जिला मुख्यालय से अंतिम छोर के गांवों की लंबी दूरी के कारण कईकमेटियां राज्य सरकार को सिफारिश कर चुकी हैं कि वे जल्दनए जिले बनाएं। कमेटी बना दी गई है : मंत्री राज्य में नए जिले जरूर बनेंगे। इसके लिए कमेटी बना दी है। रिपोर्ट आने के बाद फैसला ले लिया जाएगा। नएजिले बनाने का एलान खुद मुख्यमंत्री अशोक गहलोत ने किया था। – हेमाराम चौधरी, राजस्व मंत्री